यह ब्लॉग खोजें

बुधवार, 18 जुलाई 2012

तांका ५,७,५,७.७.(नयन )


()
झुके नयन 
लाज का वो पहरा 
दोनों खामोश 
बोलती धड़कने 
अनबूझे सवाल 
()
भीगे नयन 
ग़मों की बरसात 
गीला तकिया 
कैसे कटे रतिया 
मेरे मन बसिया 
()
मिले नयन 
नेह की अभिव्यक्ति 
मौन सन्देश 
पहली मुलाकात 
दिल में बसी याद 
()
बुझे नयन 
बेरंग जिंदगानी 
शून्य निगाहें 
लेकिन स्वाभिमानी 
एक सच्ची कहानी 
()
लाल नयन 
क्रोधाग्नि में संतप्त 
खौलता खून 
खुला जब त्रिनेत्र 
भस्म हुआ सम्पूर्ण 
()
दिव्य नयन 
आलौकिक नजर 
श्री भगवन 
कमल नयनम
शत शत नमन 
*********     

19 टिप्‍पणियां:

  1. नयन की कई भाषाएँ दिखी इन क्षणिकाओं में ....
    सुंदर ....
    साभार !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर राजेश जी....
    मात्राओं की बंदिश के बावजूद बेहतरीन अभिव्यक्ति...
    सुन्दर...

    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  3. नयन की भाषा नयन ही जाने ..बहुत सुन्दर..

    उत्तर देंहटाएं
  4. नयन की विभिन्नता और विशेषता
    चित्रमय सुन्दर प्रस्तुति..
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपकी सभी रचनाऐ लाजबाब लगी,,,,,बधाई,,,,

    RECENT POST ...: आई देश में आंधियाँ....

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुंदर ...सारे आयाम लिख दिये नयन के

    उत्तर देंहटाएं
  7. नयनों की भाषा ,नयनों की अभिव्यक्ति को आपने सशक्त अभिव्यक्ति दी मैं तो कायल हो गया आपका ,
    अद्भुत निर्मल नयनाभिराम , प्रणाम . हरियाली की शुभकामनाएं ..

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत खूब लिखा है इस रचना के लिए आभार

    उत्तर देंहटाएं
  9. तांका ...बहुत सुन्दर है विषय एक पर अलग अलग भाव ...सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  10. जबरदस्त तांका ... इस शैली में पूरी महारत है आपको ... बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. भीगे नयन
    ग़मों की बरसात
    गीला तकिया
    कैसे कटे रतिया
    मेरे मन बसिया
    (३)बढिया ताका .बधाई सभी बिम्ब बड़े सजीव और मनोहर रहे .

    उत्तर देंहटाएं
  12. इन नयनों की तलाश में तो लिखने से अधिक मेहनत करनी पड़ी होगी।:) सटीक चित्र, शब्दों को अभिव्यक्त करते हुए।

    उत्तर देंहटाएं
  13. नयन में भरकर आपने जीवन के कई रहस्यों को उजागर कर दिया। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  14. भीगे नयन
    ग़मों की बरसात
    गीला तकिया
    कैसे कटे रतिया
    मेरे मन बसिया

    ...बहुत खूब! सभी तांका बहुत सुन्दर और प्रभावी...

    उत्तर देंहटाएं
  15. इतनी सुंदर अभिव्यक्ति और अंत में सभी रस शांत रस में मिलते हुए।

    उत्तर देंहटाएं