यह ब्लॉग खोजें

शनिवार, 25 अगस्त 2012

प्रलय---- कुकुभ छंद (16,14 मात्राएँ प्रत्येक चरण के अंत में २ दीर्घ मात्राएँ)


प्रदूषित करते ना थके तुम ,भड़क गई उर में ज्वाला 
क्रोधित हो कूद पड़ी गंगा ,सब कुछ जल थल कर डाला 
डूब गए घर बार सभी कुछ ,राम शिवाला भी डूबा 
कुपित हो गए मेघ देवता ,कोई नहीं है अजूबा 
राजस्थान ,असम,झाड़खंड,नहीं बची उत्तरकाशी 
प्रलय ये कभी नहीं सोचती ,कौन धरम कौनू भाषी
पर्वत पर्वत जंगल जंगल ,तुम चलाते  रहे आरी  
खूँ के आँसूं रोते हो अब ,आन पड़ी विपदा भारी 
 *******

21 टिप्‍पणियां:

  1. खूँ के आँसूं रोते हो अब ,आन पड़ी विपदा भारी
    वाह क्या बात है, अति सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  2. waah rajesh kumari ji sach kaha aapne pralay kuch nahi dekhti ...............bahut sundar ek ek moti uttam

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया |
    सही आक्रोश |
    बधाई दीदी ||

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रकृति का कोप सम्हालना होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  5. पर्वत पर्वत जंगल जंगल ,तुम चलाते रहे आरी
    खूँ के आँसूं रोते हो अब ,आन पड़ी विपदा भारी

    कटु सत्य ...
    अब भी हम सम्हल जायें तो भला हो ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    --
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (26-08-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  7. ab pralay nahi lao jag me bhauti badio samhal jao,vdhvnsonmukhho rahi prakrit apne karmo se jag jao...en panktio se aap ki vehtarin rachana ka swagat hai

    उत्तर देंहटाएं
  8. प्रकृति की नाराजी ना झेलनी पड़े तभी तक ठीक है ...
    आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  9. छंद में प्रलय को खूबसूरती से बाँधा है...मैं भी कुकुभ छंद लिखने का प्रयास करूँगी...आभार !!

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह प्रदूषण के भीषण परिणाम को किस खूबसूरती से छंद बध्द किया है ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. It's a wonderful creation ma'am. Awesome...Awesome....Awesome !

    उत्तर देंहटाएं
  12. प्रकृति के साथ खिलवाड़ के परिणाम तो भुगतने होंगे ,काट दिए सब पेड़ तो फिर क्यों ढूंढें छाँव .....काव्यात्मक प्रस्तुति टूटते पर्यावरण और पारितंत्र के परिणामों की ...बढ़िया पोस्ट .कृपया यहाँ भी पधारें -
    शनिवार, 25 अगस्त 2012
    काइरोप्रेक्टिक में भी है समाधान साइटिका का ,दर्दे -ए -टांग का
    काhttp://veerubhai1947.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  13. आज 28/08/2012 को आपकी यह पोस्ट (दीप्ति शर्मा जी की प्रस्तुति मे ) http://nayi-purani-halchal.blogspot.com पर पर लिंक की गयी हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  14. लखनऊ सम्मान मुबारक !
    ब्लोगर सम्मान मुबारक !कैंटन (मिशगन )के शतश :प्रणाम !नेहा एवं आदर सेवीरुभाई .
    बुधवार, 29 अगस्त 201
    मिलिए डॉ .क्रैनबरी से
    मिलिए डॉ .क्रैनबरी से

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुन्दर और सार्थक रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  16. हार्दिक धन्यवाद वीरेन्द्र शर्मा जी

    उत्तर देंहटाएं
  17. अब भी चेतो...छंद-बंद का बेहद ख्याल रक्खा गया है...खूबसूरत रचना...

    उत्तर देंहटाएं