यह ब्लॉग खोजें

मंगलवार, 16 अक्तूबर 2012

धूप का टुकड़ा (ग़ज़ल )


  
  सपना गरीब का रब  टूटा बिखर गया
ज़ालिम जो मुश्किलात में वापस मुकर गया
    शब्दों के तीर छोड़ वो जैसे उधर गया
       आँखों में गर्म खून का लावा उतर गया
             कुर्सी के ख़्वाब हर इक  की आँख में मिले
      जैसे किसी जुनून का साया पसर गया
              उसको ख़ुशी की छाँव में धोखे मिले फ़कत
           तपकर दुखो की आंच में कुछ तो निखर गया
            आकाश  ख्वाहिशों का तभी छूने थी चली
       सैंयाद कैंचियों से सभी पर कतर गया
        खुशियाँ दरों पे आकर ऐसे सिमट गई
         हाथों से ज्यूँ शराब का प्याला बिखर गया
               फ़ज्लो करम की सख्त  फ़जीहत तो देखिये
         उसके फ़लक से धूप का टुकड़ा गुजर गया
        इंसान जिंदगी भर समझा जानता
            आया था किस दिशा से  जाने किधर गया
               *************************************
राजेश कुमारीराज”

18 टिप्‍पणियां:

  1. वाह राजेश जी...
    बहुत सुन्दर गज़ल कही...
    फ़ज्लो करम की सख्त फ़जीहत तो देखिये
    उसके फ़लक से धूप का टुकड़ा गुजर गया...

    बहुत बढ़िया..
    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया प्रस्तुति |
    बधाई स्वीकारें आदरेया ||

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया ..... अश्शार से पहले लिखे नंबर हटा दीजिये .... खूबसूरती बढ़ जाएगी ।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. संगीता जी आपके सुझाव के लिए बहुत बहुत धन्यवाद नंबर हटा दिए हैं आभार

      हटाएं
  4. वाह बहुत खूब कहा आपने ... बेहतरीन प्रस्‍तुति।

    उत्तर देंहटाएं
  5. इंसान जिंदगी भर समझा न जानता
    आया था किस दिशा से न जाने किधर गया

    बेहद उम्दा प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  6. खुबसूरत शेर.. बढ़िया प्रस्तुति |

    उत्तर देंहटाएं
  7. इंसान जिंदगी भर समझा न जानता
    आया था किस दिशा से न जाने किधर गया...sahi baat hai

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर और सारगर्भित ग़ज़ल | बहुत खूब राजेश जी |

    नई पोस्ट:- हे माँ दुर्गा

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपका ब्लॉग ''इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड '' सामूहिक ब्लॉग पर भी अपडेट होता है.और आपकी हर नयी पोस्ट यहाँ अपडेट्स के जरिये नज़र आती है.हमारा उद्देश्य हिंदी ब्लोग्स का प्रमोशन करना.और इंडियन ब्लोगर्स का एक समूह बनाना है.ताकि हम सभी मिलकर एक दुसरे के सहयोग से हिंदी ब्लॉग जगत का नाम रोशन कर सकें.आपसे भी निवेदन है की आप भी यहाँ आयें.और आज ही इसे ज्वाइन कर लें.और इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड के सदस्य बन जाएँ.

    इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपका ब्लॉग ''इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड '' सामूहिक ब्लॉग पर भी अपडेट होता है.और आपकी हर नयी पोस्ट यहाँ अपडेट्स के जरिये नज़र आती है.हमारा उद्देश्य हिंदी ब्लोग्स का प्रमोशन करना.और इंडियन ब्लोगर्स का एक समूह बनाना है.ताकि हम सभी मिलकर एक दुसरे के सहयोग से हिंदी ब्लॉग जगत का नाम रोशन कर सकें.आपसे भी निवेदन है की आप भी यहाँ आयें.और आज ही इसे ज्वाइन कर लें.और इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड के सदस्य बन जाएँ.

    इंडियन ब्लोगर्स वर्ल्ड

    उत्तर देंहटाएं
  11. इंसान जिंदगी भर समझा न जानता
    आया था किस दिशा से न जाने किधर गया

    ....एक शास्वत सत्य जिसे हम जानबूझ कर अनदेखा करते हैं...बहुत गहन और ख़ूबसूरत गज़ल...

    उत्तर देंहटाएं