यह ब्लॉग खोजें

गुरुवार, 21 मार्च 2013

इक दूजे पर डालिये ,पुष्प रंग के घोल


मौसम में भी मच रही, फागुन की अब धूम|
झूमें हँस-हँस मंजरी, भँवरे जाते  चूम||

डाल-डाल पर खिल रहे,केसर टेसू फूल|
आपस में घुल मिल गए ,बैर भाव को भूल||

महकी डाली आम की,मादक-मादक भोर|
लिखती पाती प्रेम की,होकर मस्त विभोर||

कान्हा को फुसला रही,फागुन प्रीत बयार|
राधा जी को भा रही,स्नेहिल रंग फुहार||

चन्दा ने फैला दिया,चाँदी भरा रूमाल|
सूरज ने बिखरा दिया,पीला ,लाल गुलाल||

क्यारी-क्यारी दे रही,महादेव को भंग|
फूल और तरकारियाँ ,बाँट रही हैं रंग|| 

तन-मन को भरमा रहे,होली के हुडदंग|
दरवाजे पर बज रहे,ढ़ोला फाग  मृदंग||  

होली में मत भूलिये ,आँखें हैं अनमोल|
इक दूजे पर डालिये ,पुष्प रंग के घोल||
*********************************************              

20 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर...

    पधारें "चाँद से करती हूँ बातें "

    उत्तर देंहटाएं
  2. फूलों की होली खेलें..मन मुदित हो होली में..

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर,रंगबिरंगी पोस्ट...

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर होली पर रंग बिरंगी दोहों की प्रस्तुति ,,,

    RecentPOST: रंगों के दोहे ,

    उत्तर देंहटाएं
  5. .सार्थक सुन्दर भावनात्मक प्रस्तुति आभार हाय रे .!..मोदी का दिमाग ................... .महिला ब्लोगर्स के लिए एक नयी सौगात आज ही जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

    उत्तर देंहटाएं
  6. चन्दा ने फैला दिया,चाँदी भरा रूमाल|
    सूरज ने बिखरा दिया,पीला ,लाल गुलाल||-----
    bahut sunder anubhuti
    rango se bhari badhai

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपने होली के पावन पर्व पर बहुत ही सुन्दर दोहे दिए हैं...बधाई धन्यवाद...
    होली पर हमारी अग्रिम हार्दिक शुभकामनाएँ!
    सादर/सप्रेम
    सारिका मुकेश

    उत्तर देंहटाएं
  8. चन्दा ने फैला दिया,चाँदी भरा रूमाल|
    सूरज ने बिखरा दिया,पीला ,लाल गुलाल||

    एक से बढकर एक हैं सभी दोहे..बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुंदर, रंगभरे, रसभरे, महकते हुए दोहे.....
    ~सादर!!!

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुंदर रंग बिखेरती सीख देती रचना
    दीदी बधाई फाल्गुनी दोहों के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  11. प्रकृति के सारे रंग चुन कर दोहों में भर लिये, अनिता जी 1

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आभार आपका किन्तु मैं राजेश कुमारी हूँ गलती से आप अनीता समझ गई हैं

      हटाएं
  12. anita ji bahut sundar avam samyik prastuti ... aapko holi ki bahut bahut shubhkamnaye !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आभार आपका किन्तु मैं राजेश कुमारी हूँ गलती से आप अनीता समझ गई हैं

      हटाएं
  13. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (24-03-2013) के चर्चा मंच 1193 पर भी होगी. सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  14. खुबसूरत रचना ,रंगीन होली सबके दिल में खुशियाँ भर दें. होली की शुभकामनाएं
    latest post भक्तों की अभिलाषा
    latest postअनुभूति : सद्वुद्धि और सद्भावना का प्रसार

    उत्तर देंहटाएं
  15. महकी डाली आम की,मादक-मादक भोर|
    लिखती पाती प्रेम की,होकर मस्त विभोर ..

    होली के आते ही प्रेम की पींगें बढ़ने लगती हैं ...
    हर छंद लाजवाब ... होली की बहुत बहुत बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत सुंदर रंग-बिरंगी रचना .....
    रंगोत्सव की शुभ कामनाएं ...
    साभार...

    उत्तर देंहटाएं